Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana 2024: महिलाओं को PMMVY के तहत मिलेंगे 5000 रूपये, अभी करें आवेदन

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana
PM Gramin Yojana 2024 को 5 स्टार दे
[Total: 0 Average: 0]

गर्भवती माताओं और शिशुओं के स्वास्थ्य एवं पोषण को सुनिश्चित करना भारतीय सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए, प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana) की शुरुआत की गई। यह योजना आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्गों से ताल्लुक रखने वाली गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को वित्तीय सहायता प्रदान करती है। जिससे उन्हें अपने और अपने बच्चे के स्वास्थ्य की देखभाल करने में मदद मिलती है। इससे न केवल माताओं के स्वास्थ्य में सुधार होता है, बल्कि बच्चों के पोषण और विकास को भी बढ़ावा मिलता है। आइए, इस लेख में हम पीएमएमवीवाई के बारे में विस्तार से जानें, जिसमें पात्रता मापदंड, लाभ राशि, आवेदन प्रक्रिया और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी शामिल है।

Table Of Contents
  1. प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) क्या है?
  2. Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana के लाभार्थी
  3. प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) किस्तों का विवरण
  4. Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana के लिए आवेदन कैसे करें?
  5. Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana Quick Links
  6. निष्कर्ष

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) क्या है?

प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana), जिसे पहले प्रसूति लाभ कार्यक्रम ( maternity benefit programme) के नाम से जाना जाता था, भारत सरकार की एक केंद्रीयकृत प्रायोजित प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (DBT) योजना है। इसका शुभारंभ 1 जनवरी 2017 को किया गया था। इस योजना के अंतर्गत, लाभार्थी गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को उनके बैंक खातों या डाकघर खातों में सीधे ₹5000 की राशि प्रदान की जाती है। यह राशि तीन किस्तों में दी जाती है, जिससे गर्भावस्था और प्रसवपूर्व देखभाल को बढ़ावा मिलता है, साथ ही मातृत्व अवकाश के दौरान वित्तीय सहायता भी मिलती है।

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana का उद्देश्य

PMMVY का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं और शिशुओं के स्वास्थ्य एवं पोषण में सुधार लाना है। यह योजना निम्न लक्ष्यों को प्राप्त करने का प्रयास करती है:

  • गर्भवती महिलाओं को प्रसवपूर्व जांच के लिए प्रोत्साहित करना और यह सुनिश्चित करना कि वे कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच करवाएं।
  • माताओं को स्तनपान को बढ़ावा देना।
  • गर्भावस्था और प्रसव के दौरान होने वाले पोषण संबंधी कमियों को दूर करना।
  • माताओं को मातृत्व अवकाश के दौरान वित्तीय सहायता प्रदान करना।
  • लिंग अनुपात में सुधार लाने के लिए (नवीनतम दिशानिर्देशों के अनुसार, दूसरी संतान लड़की होने पर अतिरिक्त नकद प्रोत्साहन दिया जाता है)।

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana के लाभार्थी

PMMVY योजना का लाभ उठाने के लिए निम्नलिखित महिलाएं पात्र हैं:

  • वे गर्भवती महिलाएं जो 19 वर्ष से अधिक आयु की हैं और पहली बार मातृत्व का अनुभव कर रही हैं। (दूसरी संतान के लिए भी योजना लागू है, लेकिन कुछ शर्तों के साथ, जिन्हें हम पात्रता मापदंड अनुभाग में देखेंगे)
  • जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान आंगनवाड़ी सेवाओं का लाभ उठा रही हैं।
  • वे महिलाएं जो सरकारी या सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में नियमित रूप से कार्यरत नहीं हैं और उन्हें किसी अन्य कानून के तहत समान लाभ नहीं मिल रहा है।
  • विधवा महिलाएं, तलाकशुदा महिलाएं और अविवाहित महिलाएं भी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र हैं, बशर्ते वे अन्य पात्रता मानदंडों को पूरा करती हों।

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana के लाभ

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत लाभार्थी महिलाओं को प्रत्यक्ष रूप से उनके बैंक खाते या डाकघर खाते में कुल ₹5000 की राशि प्रदान की जाती है। यह राशि तीन किस्तों में दी जाती है।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) किस्तों का विवरण

किस्त संख्या (Installment No.)राशि (Amount)शर्तें (Conditions)
पहली किस्त (1st Installment)₹1000गर्भावस्था के शुरुआती चरण में गर्भावस्था का पंजीकरण कराना (Early pregnancy registration)
दूसरी किस्त (2nd Installment)₹2000गर्भावस्था के छह महीने पूरे होने के बाद और कम से कम एक प्रसव पूर्व जांच कराना (Completion of six months of pregnancy and at least one antenatal check-up)
तीसरी किस्त (3rd Installment)₹2000बच्चे के जन्म का पंजीकरण कराना और टीकाकरण का पहला चक्र पूरा कराना (Childbirth registration and completion of the first cycle of vaccinations)

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत मिलने वाली राशि

जैसा कि पिछले भाग में बताया गया है, PMMVY के तहत लाभार्थी महिलाओं को कुल ₹5000 की राशि तीन किस्तों में प्रदान की जाती है। इस खंड में, हम प्रत्येक किस्त के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की पहली किस्त

  • राशि: ₹1000
  • शर्त: गर्भावस्था के शुरुआती चरण में गर्भावस्था का पंजीकरण कराना (Early pregnancy registration)

पहली किस्त ₹1000 की राशि तब प्राप्त होती है, जब गर्भवती महिला गर्भावस्था के शुरुआती चरण में आंगनवाड़ी केंद्र या सरकारी अस्पताल में अपना गर्भावस्था पंजीकरण करा लेती है। यह पंजीकरण आमतौर पर गर्भावस्था के पहले 12 हफ्तों के दौरान कराना होता है।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की दूसरी किस्त

  • राशि: ₹2000
  • शर्तें:
    • गर्भावस्था के छह महीने पूरे होना (Completion of six months of pregnancy)
    • कम से कम एक प्रसव पूर्व जांच कराना (At least one antenatal check-up)

दूसरी किस्त ₹2000 की राशि तब प्राप्त होती है, जब गर्भवती महिला गर्भावस्था के छह महीने पूरे कर लेती है और साथ ही साथ उसने कम से कम एक प्रसव पूर्व जांच करा ली हो। प्रसव पूर्व जांच में डॉक्टर द्वारा गर्भवती महिला और भ्रूण के स्वास्थ्य की जांच करना शामिल होता है।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की तीसरी किस्त

  • राशि: ₹2000
  • शर्तें:
    • बच्चे के जन्म का पंजीकरण कराना (Childbirth registration)
    • टीकाकरण का पहला चक्र पूरा कराना (Completion of the first cycle of vaccinations)

तीसरी और अंतिम किस्त ₹2000 की राशि तब प्राप्त होती है, जब जन्म लेने वाले बच्चे का जन्म पंजीकरण करा लिया जाता है और साथ ही उसका टीकाकरण का पहला चक्र पूरा हो जाता है। टीकाकरण के इस चक्र में बच्चे को निर्धारित टीके लगवाना शामिल होता है, जो बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण माने जाते हैं।

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana के लिए पात्रता मापदंड

PMMVY योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन करने वाली महिलाओं को कुछ पात्रता मापदंडों को पूरा करना आवश्यक होता है। इन मापदंडों को निम्नलिखित श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है:

1 आयु संबंधी पात्रता (Age Eligibility)

  • आवेदन करने वाली महिला की आयु कम से कम 19 वर्ष होनी चाहिए।

2 आर्थिक स्थिति (Economic Status)

  • यह योजना मुख्य रूप से आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्गों से ताल्लुक रखने वाली महिलाओं के लिए है।
  • परिवार की वार्षिक आय सीमा को ध्यान में रखते हुए पात्रता निर्धारित की जाती है। (आपको सलाह दी जाती है कि नवीनतम आय सीमा के लिए आधिकारिक वेबसाइट या अपने क्षेत्र के संबंधित कार्यालय से संपर्क करें।)

3 गर्भधारण संबंधी शर्तें (Pregnancy Related Conditions)

  • यह योजना पहली बार या दूसरी बार मातृत्व प्राप्त करने वाली महिलाओं के लिए लागू है।
  • हालांकि, दूसरी संतान के लिए यह योजना केवल तभी लागू होती है, जब दूसरा जन्म लेने वाला बच्चा लड़की हो।
  • गर्भवती महिला किसी भी प्रकार के रोज़गार में कार्यरत नहीं होनी चाहिए या उसे मातृत्व लाभ प्राप्त नहीं हो रहा हो।
Haryana Kanyadan Yojana 2024: हरियाणा सरकार दे रही है बेटी की शादी के लिए 51,000 रुपये, जानिए कैसे पाएं योजना का लाभ

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana के लिए आवेदन कैसे करें?

PMMVY योजना के लिए आवेदन करना सरल प्रक्रिया है। आप दो तरीकों से आवेदन कर सकती हैं:

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना ऑनलाइन आवेदन

  • PMMVY योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए, आप आधिकारिक वेबसाइट https://pmmvy.wcd.gov.in/ पर जा सकती हैं।
  • वेबसाइट पर आपको “ऑनलाइन पंजीकरण” (Online Registration) का लिंक मिलेगा। इस लिंक पर क्लिक करें और आवेदन फॉर्म भरें।
  • आवेदन फॉर्म भरते समय, आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारी, गर्भावस्था से संबंधित विवरण और बैंक खाते का विवरण दर्ज करना होगा।
  • सभी आवश्यक जानकारी भरने के बाद, फॉर्म को जमा करें। सफलतापूर्वक जमा होने पर आपको एक पंजीकरण संख्या प्राप्त होगी। इस पंजीकरण संख्या को भविष्य में सन्दर्भ के लिए संभाल कर रखें।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना ऑफलाइन आवेदन

  • आप अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र या सरकारी अस्पताल में जाकर PMMVY योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन कर सकती हैं।
  • वहां से आपको आवेदन फॉर्म प्राप्त हो जाएगा। फॉर्म को ध्यानपूर्वक भरें और साथ में आवश्यक दस्तावेज जमा करें।

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

PMMVY योजना के लिए आवेदन करते समय आपको निम्नलिखित दस्तावेज जमा करने होंगे:

  • आवेदन फॉर्म (Application Form)
  • आधार कार्ड (Aadhaar Card) (आपका और आपके पति/सहयोगी का, यदि लागू हो)
  • गर्भावस्था प्रमाण पत्र (Pregnancy Certificate) (सरकारी अस्पताल या पंजीकृत चिकित्सक द्वारा जारी)
  • बैंक खाते या डाकघर खाते का विवरण (Bank Account or Post Office Account Details) (जहां आपको किस्तों का भुगतान प्राप्त होगा)
  • विवाह प्रमाण पत्र (Marriage Certificate) (यदि दूसरी संतान के लिए आवेदन कर रही हैं)
  • जन्म प्रमाण पत्र (Birth Certificate) (यदि दूसरी संतान के लिए आवेदन कर रही हैं और दूसरा बच्चा लड़की है)

Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana Quick Links

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmmvy.wcd.gov.in/
महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार की वेबसाइटhttps://wcd.nic.in/

निष्कर्ष

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए एक महत्वपूर्ण सरकारी पहल है। यह योजना आर्थिक सहायता प्रदान करके इन महिलाओं के जीवन को थोड़ा आसान बनाती है। PMMVY योजना का उद्देश्य प्रसव पूर्व और प्रसवोत्तर देखभाल को बढ़ावा देना, मातृ मृत्यु दर और शिशु मृत्यु दर को कम करना और गर्भवती महिलाओं एवं शिशुओं के पोषण में सुधार करना है। यदि आप गर्भवती हैं या जल्द ही मातृत्व प्राप्त करने वाली हैं और आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग से ताल्लुक रखती हैं, तो आपको PMMVY योजना के लिए आवेदन करने पर विचार करना चाहिए। इस योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकती हैं या अपने क्षेत्र के आंगनवाड़ी केंद्र या सरकारी अस्पताल से संपर्क कर सकती हैं।

इस लेख को पढ़ने के बाद आपको उम्मीद है कि प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *